December 3, 2022

रेल परियोजना पूरी होते ही आसान होगा बदरी केदार को सफर

Read Time:2 Minute, 2 Second

देहरादून, ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना बदरी-केदारनाथ यात्रा का स्वरूप बदल देगी। इस से केदारनाथ, बदरीनाथ आने वाले तीर्थयात्रियों का समय तो बचेगा साथ ही खर्च भी कम होगा। परियोजना को 2025 के दिसंबर तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। इस परियोजना से केदारनाथ, बदरीनाथ तक तीर्थयात्रियों का पहुंचना आसान हो जाएगा। अभी जहां ऋषिकेश से कर्णप्रयाग जाने में 6 से 7 घंटे लगा जाते हैं। इस रेल परियोजना के पूरे होने के बाद सिर्फ दो घंटे रह जायेंगी। कर्णप्रयाग से बदरीनाथ धाम का सफर अभी करीब साढ़े चार घंटे का है। यह भी घटकर कम हो जायेंगा। अभी ऋषिकेश से बदरीनाथ यात्रा में करीब 11 घंटे लग जाते हैं। उत्तराखंड में करोड़ रुपए की लागत से तैयार हो रही ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना पर पूरे प्रदेश की नजर टिकी हुई है। इस परियोजना के पूरा होने से पर्वतीय जिलों में विकास की उम्मीद है। 125 किलोमीटर लंबी इस रेल परियोजना में 105 किलोमीटर रेल लाइन 17 सुरंगों के भीतर से गुजरेगी। इस परियोजना के निर्माण के लिए रेल विकास निगम नौ पैकेज और 54 फेज में काम को बांटा है। इन सभी पैकेजों में रेल टनल, एडिट टनल, रेल ब्रिज तथा रोड ब्रिज के कार्यों को अंजाम दिया जा रहा है। अब तक की सबसे लंबी (14.08 किमी) रेल सुरंग भी इसी परियोजना पर तैयार हो रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close

Crime