Patna: छठ पर्व के लिए 96 घाटों का ऐलान, 12 को करार दिया गया खतरनाक

पटना: छठ पर्व में अब सिर्फ दो दिन बाकी रह गए हैं. इस दरमियान प्रशासन ने दारुल हुकूमत में घाटों की लिस्ट जारी कर दी है. वहीं, जिला प्रशासन ने नगर निगम इलाके के 12 घाटों को खतरनाक करार दे दिया है. प्रशासन ने 96 घाटों की लिस्ट जारी की है.

प्रशासन की तरफ से जिन घाटों को खतरनाक करार दिया गया है, वहां रविवार से ही बैरिकेडिंग कर दी गई है. इन घाटों पर लोगों की एंट्री पर रोक लगा दी गई है. पुलिस की भी तैनाती की गई है. कई घाटों पर दलदल होने की वजह से प्रशासन को कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है.

नगर निगम पहले से 108 गंगा घाटों पर छठ महापर्व की तैयारी शुरू की थी. घाटों पर दलदल, तेज ढाल होने और राब्ता पथ खराब होने के चलते घाटों को खतरनाक करार दिया गया है. अब इस सिलसिले में प्रशासन ने पूरी तैयारी कर ली है.

इन घाटों को करार दिया गया खतरनाक
शहर कटाही घाट, टेढी घाट, महाराज घाट, मिरचई घाट, अदालत घाट, मिश्री घाट, टीएन बनर्जी घाट, जजेज घाट, अंटा घाट, जहाज घाट, बीएन कालेज घाट तथा बांकीपुर घाट शामिल है. कटाही व टेढी घाट पर दो से तीन फीट तक दलदल है. यहां राब्ता पथ नहीं बन पाया. मिरचई घाट पर भी दो से तीन फीट दलदल है. इसके अलावा अदालत घाट, मिश्री घाट, टीएन बनर्जी घाट, जजेज घाट, अंटा घाट, जहाज घाट, बीएन कालेज घाट तथा बांकीपुर घाट पर नाले का गंदा पानी लगातार गिर रहा है.

वहीं, छठ पूजा के दिन वाहनों के पार्किंग के प्रशासन की तरफ से कुल 14 जगहों का इंतिज़ाम किया गया है. छठ के दिन 10 नवंबर को दोपहर 2 से शाम 7 बजे और 11 नवंबर की रात 2 से सुबह 8 बजे तक अशोक राजपथ, पटना सिटी, बाइपास, बेली रोड सहित कई मार्गों पर वाहनों का परिचालन प्रतिबंधित रहेगा। वहीं 10 और 11 नवंबर के पूर्वाह्न 10 बजे तक पटना जिले पहाड़ी मोड़ से दीदारगंज की ओर ट्रकों का परिचालन नहीं होगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close

Crime